Tuesday, December 30, 2014

Fentency दोस्त की बहन की

Fentency


दोस्त की बहन की

हेलो दोस्तोँ, मैँ आपका चोदू दोस्त, मनीष आ गया हूँ, आप लोगोँ के लिये लेकर एक अनोखी मज़ेदार दिलकश लाजवाब कामुक कथा लेकर ,जहाँ आपको पता चलेगा कि कैसे मैँने पहली बार चोदना सीखा. जी हाँ, मेरा पहला सेक्स एक्सपीरीयन्स जिसे करने के बाद से मेरे सामने चूत की झडी लग गयी. पहली बार चुदाई के बाद से मैँने हर हफ्ते कम से कम 3 नई चूत चोदी. उस पहले अनुभव ने मुझे चोदू नम्बर 1 बना दिया है  दोस्तोँ. ऐसा चोदू जिसके लन्द के खडा होते ही लडकियोँ की चूत अपने आप गीली हो कर लंड को पेलवाने के लिये फैल जाती हैँ. तो सबसे पहले तो मेरा परीचय दे देता हूँ. मेरा नाम तो मनीष है, यह आप जान ही चुके हैँ. मेरी उम्र है 48 साल. बदन भी ठीक ठाक है इस उम्र मेँ भी. तो हुआ यूँ कि जब मेरी उम्र करीब 19 साल की थी, और मैँ लंड हिला हिला कर पानी निकालने से तंग आ गया था तो मैँने तय कर लिया कि अब लंड को किसी चूत की गहराई नाप लेना चाहिये. क्या पता कल हो या ना हो? लेकिन काफी खोज बिन के बाद भी मुझे कोई चूत नहीँ मिली. बहुत कसमसा कर रह गया. आखिर थक  हार कर फिर से लंड हिलाकर खुद को शांत करने लग गया मैँ. लेकिन एक दिन मेरी किस्मत भी खुल ही गई. हुआ यह कि एक दिन, मैँ अपने दोस्त के साथ उसके घर गया मिलने के लिये. उसके घर परुस समय सिर्फ उसकी बडी बहन थी और वो था. हम दोनोँ से ही उसकी बहन नीता करीब 5 साल्बडी थी और जौब करती थी. वो बहुत ही सेक्सी और सुन्दर थी. फिगर भी टकाटक था उसका. रंग सांवला और्नैन नक्श अकदम कयामत थे उसके. हमलोग काफी मज़ा करते थे.तो हुआ उस दिन कुछ ऐसा जिसने सब कुछ हिला दिया.

 

हम तीनोँ आपस मेँ बातेँ कर रहे थे और हंसी मज़ाक भी. तभी मेरे दोस्त के घर पर एक आदमी आया और उसे दुकान पर उसके पिताजी बुला रहे हैँ, यह कह कर चला गया. मेरा दोस्त, मुँह बना कर बोला, यही समय था दुकान पर बुलाने का. उसकी बहन नीता बोली, तू दुकान हो कर 1 घंटे मेँ आ जा और  फिर लंच करने के बहाने वापस आ जाना, तब तक हम लोग गप्पे मारते हैँ. उसने कुछ सोचा और फिर चला गया. उसके जाने के बाद, नीता मुझसे और भी खुल कर बातेँ करने लगी. उस दिन उसने स्कर्ट और टी शर्ट पहना हुआ था. उसकी गोरी टांग बाहर झांक रही थी. वो बात करते हुए बार बार अपनी टांगेँ खोल बन्द कर रही थी. मेरा दिल बार बार ज़ोर से धडक रहा था.
अचानक से वो उठी और बोली कि क्या मेरी कोई गर्ल फ्रैंड है? मैँ सकपका गया और बोला कि नहीँ है. तो वो हंसने लगी और बोली, कुछ प्रोबलेम है क्या? मैँने कहा कि कैसी प्रोबलेम? वो मेरे करीब आकर बैठी और बोली, अरे, सेक्स की प्रोबलेम तो नहीँ है? मैँ एकदम से कांपने लगा. मैँ इसके लिये तैयार नहीँ था. मुझे लगा कि यह तो कुछ ज़्यादा ही खुल गयी. मुझे लगा कि कहीँ यह मुझे चोदना सीखाना तो नहीँ चाहती है?
उसके बाद वो मुझसे पूछे कि मैँने सेक्स किया है या नहीँ? उसके बाद आगे क्या हुआ पढिये. वो मेरे पास आई और बोली, तेरा कुछ हरकत करता है या नहीँ? मैँ कांप गया. वो और करीब आकर बैठी और बोली सच बताना. मैँ थूक निगल कर बोला हाँ. तो वो बोली, तू झूठ बोल रहा है ना. मुझे पता है तेरा वो बहुत छोटा होगा और खडा भी नहीँ होता होगा. मैँ बोला ऐसा नहीँ है, मेरा काफी बडा है और खडा भी ओता है. तो वो हंसने लगी और बोली सबूत क्या है? मुझे यकिन नहीँ होता है. फिर वो बोली अच्छा चल मान लूंगी अगर दिखा कर साबित कर दे तो.
मैँ अब तो बुरी तरह से कांपने लगा. फिर मैँने हिम्मत बटोर कर खडा हुआ और अपनी पैंट को कांपते हाथोँ से खोलने लगा. मैँने धीरे धीरे अपनी पैंट खोल दिया और नीचे सर्का दिया.उसकी आंखोँ मेँ चमक आ गयी जैसे ही उसने मेरे लंड को देखा अंडरवियर मेँ और उसका मुँह खुला रह गया. वो बोली, अरे वाह, तेरा तो सच मेँ खडा होता है और दिखता भी बडा है. ज़रा इसे बाहर तो निकाल के दिखा. मैँने कुछ नहीँ कहा तो वो खुद आगे बढ कर मेरे लंड को सह्लाई अंडरवीयर के ऊपर से और फिर अंडरवीयर को नीचे सरका दी. अब मेरा 9’’ का लंड स्प्रिंग की तरह झटके मार कर बाहर आ गया था और उसका मुँह भी लाल दिख रहा था. वो बोली वाऊ, क्या लौडा है तेरा. मान गयी तुझे. फिर उसने मेरे लंड को पकडा और उसे धीरे धीरे हिलाने लग गई. मुझे असीम सुख मिलने लगा और मेरी आंख बन्द हो गई. तभी मुझे कुछ गीला गीला सा लंड के ऊपर अहसास हुआ, तो मैँने देखा कि वो जीभ से मेरे लंड को चाट रही थी और उसका  हाथ भी उसकी स्कर्ट मेँ घुस गया था. यह देखकर मेरे लंड ने एक और झटका मारा. वो हंसने लगी और फिर गप से मेरे लंड को मुँह मेँ भरकर दम लगा कर चूसने लगी.
मुझे लगा आज मेरी जान निकल  जायेगी. हाय… क्या फीलींग हो रही थी मुझे उस वक्त. बहुत लाजवाब. फिर उसने गपगप करके लंड को काफी देर तक चूसती रही. मुझे मन किया तो मैँने भी उसकी स्कर्ट को हटाया और उसकी सफेद पैंटी सामने आ गयी.
मुझे उसकी पैंटी बहुत सेक्सी लग रही थी. उसने मेरे लंड को बहुत ज़ोर लगा कर चूसना चालू किया. मैँने भी उसकी ख्वाहिश को पूरा करते हुए उसके मुँह को ही चोदना शुरु कर दिया. हाय… क्या मज़ेदार मुख चुदाई थी. बहुत मज़ा आ रहा था. वो भी मजे से मुख चुदवा रही थी. मैँने फिर उसके टी शर्ट को और उसकी स्कर्ट को निकाल दिया और उसे सिर्फ सफेद ब्रा और पैंटी मेँ देखकर मेरे लंड ने और भी झटके मारने शुरु कर दिये.  उसने खुद ही अपनी ब्रा को निकाल दिया और अपनी गोरी गोरी मोटी चूची को आज़ाद कर दिया और उसकी पिंक निप्पल सामने आ कर मेरे मुँह से आह और लार साथ मेँ निकल गये. मैँने भी आगे झुककर उसके चूची और निप्पल  को मुँह मेँ भर लिया और वो मेरा लंड चूसे जा रही थी और मैँ उसकी चूची. हाय क्या मस्त माल थी वो. इसी तरह काफी देर तक  चूसा चूसी के बाद वो बोली चलो अब तुम्हेँ सिखाती हूँ कि लंड को चूत मेँ कैसे डाला जाता है. वो मेरा हाथ पकड कर बेड रूम मेँ ले आई. वहाँ आ कर वो पलंड पर चूत घिसते हुए लेट गयी. उसे सिसियाते हुए देखकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.
उसे इस तरह कामुक और चुदासी देखकर मेरा लंड पानी पानी हो रहा था. मैँ  उसकी चूत के बीच जाकर बैठ गया तो उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और फिर खुद मेरे मुँह पर अपनी चूत को रखकर रगडने लगी. मैँ उसकी गांड के छेद मेँ ऊंगली डालक्र उसे अपने मुँह से चोदे जा रहा था. वाह क्या नज़ारा था. वो सिसिया रही थी और मेरे लंड को पकद कर ऐंठ भी रही थी. मुझे तो बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. बहुत ही ज़्यादा मज़ा. फिर वो उठी और मेरे लंड को पकड कर अपनी चूत को उस पर टिकाई और दबाने लगी चूत को मेरे लंड पर और एक ही झटके मेँ उसकी चूत मेँ मेरा लंड घूस गया. हाय क्या मज़ा था वो. लगा जैसे जन्नत मेँ हूँ मैँ. फिर तो मैँने भी नीचे से कमर को धक्कार मारना शुरु कर दिया और वो भी अपनी गांड को घिरनी की तरह नचा कर मुझे चोदे जा रही थी और बीच बीच मेँ ज़ोरदार तरीके से कूद भी रही थी.

 

इसी कूदाई और चुदाई के बीच मेँ मैँने भी ज़ोरदार तरीके से अपने मोटे काले लंड से उसकी चूत को दम लगाकर औरउसकी गांड दबाकर चोदना जारी रखा. अचानक वो कसमसाई और मुझे कस कर पकद कर कूदने लगी और एक ही झटके मेँ शांत हो कर मुझ पर गिर गई. मैँने किला जीत लिया थ, उसे झाड  दिया और फिर मैँने भी ताकत लगा कर नीचे से उसे चोदना शुरु किया और बस  फिर मैँ भी उसकी चूत मेँ ही ढेर हो गया नमस्कार चोदू दोस्तोँ, मैँ मनीष आ गया हूँ अपनी कहानी का तीसरा भाग ले कर आप लोगोँ  के सामने. अब तक आप लोगोँ ने पढा कि कैसे मुझे मेरे दोस्त की दीदी नीता ने गरम किया और फिर मुझे नंगा कर दिया लंड देखने के बहाने से. और फिर वो मेरे लंड को चूसने लगी. मैँने उसकी स्कर्ट हटा कर देखा कि वो अपनी सफेद पैंटी मेँ हाथ डालकर अपनी चूत को सहला रही है. अब आगे पढिये. मुझे उसकी पैंटी बहुत सेक्सी लग रही थी. उसने मेरे लंड को बहुत ज़ोर लगा कर चूसना चालू किया. मैँने भी उसकी ख्वाहिश को पूरा करते हुए उसके मुँह को ही चोदना शुरु कर दिया. हाय… क्या मज़ेदार मुख चुदाई थी. बहुत मज़ा आ रहा था. वो भी मजे से मुख चुदवा रही थी. मैँने फिर उसके टी शर्ट को और उसकी स्कर्ट को निकाल दिया और उसे सिर्फ सफेद ब्रा और पैंटी मेँ देखकर मेरे लंड ने और भी झटके मारने शुरु कर दिये.  उसने खुद ही अपनी ब्रा को निकाल दिया और अपनी गोरी गोरी मोटी चूची को आज़ाद कर दिया और उसकी पिंक निप्पल सामने आ कर मेरे मुँह से आह और लार साथ मेँ निकल गये. मैँने भी आगे झुककर उसके चूची और निप्पल  को मुँह मेँ भर लिया और वो मेरा लंड चूसे जा रही थी और मैँ उसकी चूची. हाय क्या मस्त माल थी वो. इसी तरह काफी देर तक  चूसा चूसी के बाद वो बोली चलो अब तुम्हेँ सिखाती हूँ कि लंड को चूत मेँ कैसे डाला जाता है. वो मेरा हाथ पकड कर बेड रूम मेँ ले आई. वहाँ आ कर वो पलंड पर चूत घिसते हुए लेट गयी. उसे सिसियाते हुए देखकर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.
उसे इस तरह कामुक और चुदासी देखकर मेरा लंड पानी पानी हो रहा था. मैँ  उसकी चूत के बीच जाकर बैठ गया तो उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और फिर खुद मेरे मुँह पर अपनी चूत को रखकर रगडने लगी. मैँ उसकी गांड के छेद मेँ ऊंगली डालक्र उसे अपने मुँह से चोदे जा रहा था. वाह क्या नज़ारा था. वो सिसिया रही थी और मेरे लंड को पकद कर ऐंठ भी रही थी. मुझे तो बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था. बहुत ही ज़्यादा मज़ा. फिर वो उठी और मेरे लंड को पकड कर अपनी चूत को उस पर टिकाई और दबाने लगी चूत को मेरे लंड पर और एक ही झटके मेँ उसकी चूत मेँ मेरा लंड घूस गया. हाय क्या मज़ा था वो. लगा जैसे जन्नत मेँ हूँ मैँ. फिर तो मैँने भी नीचे से कमर को धक्कार मारना शुरु कर दिया और वो भी अपनी गांड को घिरनी की तरह नचा कर मुझे चोदे जा रही थी और बीच बीच मेँ ज़ोरदार तरीके से कूद भी रही थी.
इसी कूदाई और चुदाई के बीच मेँ मैँने भी ज़ोरदार तरीके से अपने मोटे काले लंड से उसकी चूत को दम लगाकर औरउसकी गांड दबाकर चोदना जारी रखा. अचानक वो कसमसाई और मुझे कस कर पकद कर कूदने लगी और एक ही झटके मेँ शांत हो कर मुझ पर गिर गई. मैँने किला जीत लिया थ, उसे झाड  दिया और फिर मैँने भी ताकत लगा कर नीचे से उसे चोदना शुरु किया और बस  फिर मैँ भी उसकी चूत मेँ ही ढेर हो गया.








Tags = Future | Money | Finance | Loans | Banking | Stocks | Bullion | Gold | HiTech | Style | Fashion | WebHosting | Video | Movie | Reviews | Jokes | Bollywood | Tollywood | Kollywood | Health | Insurance | India | Games | College | News | Book | Career | Gossip | Camera | Baby | Politics | History | Music | Recipes | Colors | Yoga | Medical | Doctor | Software | Digital | Electronics | Mobile | Parenting | Pregnancy | Radio | Forex | Cinema | Science | Physics | Chemistry | HelpDesk | Tunes| Actress | Books | Glamour | Live | Cricket | Tennis | Sports | Campus | Mumbai | Pune | Kolkata | Chennai | Hyderabad | New Delhi | chachi | chachiyan | bhabhi | bhabhiyan | bahu | mami | mamiyan | tai | sexi | bua | bahan | maa | bhabhi ki chudai | chachi ki chudai | mami ki chudai | bahan ki chudai | bharat | india | japan |

No comments:

Raj-Sharma-Stories.com

हिन्दी मैं मस्त कहानियाँ Headline Animator